X Close
X

मुख्यमंत्री व केन्द्रीय राज्यमंत्री ने विद्युत लाईनों को भूमिगत किए जाने की योजना का किया शिलान्यास ================================================================


41431-c398fa74-df75
Haridwar:

हरिद्वार। विगत दिनों मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत व शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक के अथक प्रयासों से ऊर्जा मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा आईपीडीएस योजना के अन्तर्गत कई महत्वपूर्ण परियोजनाए अनुमोदित की गयी थी। जिन पर केन्द्र सरकार ने इन प्रस्तावों पर मोहर लगाते हुए योजनाओं को धरातल पर उतारे जाने के लिए अपनी झोलियां खोल प्रदेश सरकार को हरी झंडी दे दी हैं। आज उसी क्रम में ऋषिकुल मैदान में मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत व केन्द्रीय राज्यमंत्री आर .के. सिंह ने संयुक्त रूप से विद्युत लाईनों को भूमिगत किए जाने की योजना का शिलान्यास किया। भारत सरकार द्वारा आगामी हरिद्वार महाकुम्भ हेतु सम्पूर्ण कुम्भ क्षेत्र में अव्यवस्थित विद्युत लाईनों को भूमिगत किए जाने हेतु कुल 200 करोड़ रूपए की स्वीकृति प्रदान की गयी है, इससे हरिद्वार महाकुम्भ क्षेत्र का सौन्दर्यीकरण होगा एवं विद्युत चोरी में कमी के साथ-साथ विद्युत दुर्घटनाओं में भी कमी आयेगी। वाराणसी के बाद हरिद्वार पहला शहर है जहां आईपीडीएस परियोजना के अन्तर्गत विद्युत लाइन भूमिगत होगी। शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने विद्युत भूमिगत लाईनों के लिए स्वीकृत की गई धनराशि के लिए केन्द्रीय राज्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। सासंद डा0 रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने रूडकी से लेकर हरिद्वार व हरिद्वार से ऋषिकेश तक मेट्रो ट्रेन की मांग जल्द पूर्ण होने की बात दोहराई। विद्युत लाईनों को भूमिगत किए जाने के साथ ही उत्तरी हरिद्वार में 40 बेड का अस्पताल, हरिद्वार में डिग्री कालेज व पशुचिकित्सालय की घोषणाएं भी हुई। इस अवसर पार्टी प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट, जिलाध्यक्ष देशराज कर्णवाल, मनोज गर्ग ,नेरश शर्मा ,उर्जा सचिव राधिका झा सहित कई विधायक , नेता, कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

Uttarakhand Stambh News