X Close
X

बाबा रे बाबा! कस्टोडियन संत की संपत्ति पर नीयत खराब!


fake-babas-0709
Haridwar:हरिद्वार: आजकल देश में बाबाओं पर मुद्दा काफी गर्माया हुआ हैं। ताजे घटे घटनाक्रम राम रहीम प्रकरण ने बाबा आशाराम ,रामपाल, भीष्मानंद, परमानंद, नित्यानंद के विगत दौर में हुए प्रकरणों की एक बार फिर से याद ताजा करा दी हैं।
देश भर में बाबाओं की भरमार हैं। धर्मनगरी में भी ऐसे भी कई संत हैं जिनकी काली करतूते समय समय पर सर्व समाज के सामने आई हैं।
भलें ही ऐसे कई मामले सामने आते रहे हो मगर धर्म और आस्था के नाम पर लोगों को लूटने खसोटने का सिलसिला बदस्तूर जारी हैं। इन दिनों नील पर्वत की तलहटी में बसे देवी उपासक भी कम चर्चा में नहीं हैं। चर्चा हैं कि एक संत की मृत्यु उपरांत उसकी करोड़ों रूपए की संपत्ति पर कस्टोडियन बने संत की नीयत खराब हो गई हैं।
यूपी की तत्कालीन सरकार के खासा करीबी रहे कस्टोडियन संत ने प्रोपटी व्यवसाई को पहले तो मोटी दक्षिणा लेकर धार्मिक संपत्ति खुर्द बुर्द करने की मौन स्वीकृति दे दी और अब उसी प्रोपर्टी डीलर से कस्टोडियन वाली करोड़ों की भूमि को अपने ही नाम पर गिफ्ट कराकर करोड़ो की संपत्ति का मालिकाना हक प्राप्त कर लिया जाना खासी चर्चा का विषय बना हुआ हैं। विगत दिनों बह्मलीन संत की अघोषित बीबी ने बह्मलीन संत की कारोड़ो की संपत्ति पर कस्टोडियन बनाए गए संत पर भूमाफियाओं से मिलीभगत करके संपत्ति को खुर्द बुर्द किए जाने का आरोप लगाया था। जो कहीं न कहीं अब सच साबित होता दिखाई दे रहा हैं। इसी ट्रस्ट की संपत्ति में से कई प्लाट प्रोपर्टी डीलर द्वारा दो दर्जन से अधिक शहर के अन्य लोगों के नाम विक्रय किया गया हैं जिनमें बाबा सहित प्रोपर्टी डीलर की धर्मपत्नी व भाई शामिल हैं।

(UTTARAKHAND STAMBH NEWS)

Uttarakhand Stambh News