X Close
X

घरों के नलों में पानी के साथ आ रहे कीड़े, वार्ड पार्षद से खफा दिखे लोग, कालोनी के लोगों ने काटा हंगामा


41431-4eaad1e6-a153
Haridwar:

घरों के नलों में पानी के साथ आ रहे कीड़े, वार्ड पार्षद से खफा दिखे लोग, कालोनी के लोगों ने काटा हंगामा
==================================================================================
हरिद्वार। कनखल स्थित हिमगिरि कालोनी में रहने वाले लोग इन दिनों घरों के नलों पीने के पानी में कीड़े आने से खासा परेशान हैं। जल संस्थान लोगों को कीड़े वाला पानी पिला रही है। छोटे.छोटे कीड़े पानी में तैरते हुए साफ दिख रहे हैं। स्थिति यह है कि पानी पीना तो दूर, बर्तन धोने, नहाने और अन्य घरेलू कामों के लायक भी नहीं है। इस संबंध में कई बार अलग- अलग मौकों में संबंधित विभागीय अधिकारियों से शिकायत की जा चुकी है लेकिन स्थिति नहीं सुधरी है। नगर निगम क्षेत्र में कई स्थानों पर क्षतिग्रस्त लाईनों की मरम्मत नहीं होने के चलते विभागीय अधिकारियों की लापरवाही का दंश झेलने को कालोनी के लोग मजबूूर है। जगह-जगह पाइपों के क्षतिग्रस्त होने के कारण पानी सड़क पर फैल रहा है। नाली में पाइप के फटने के कारण नाले व सीवर का पानी भी पाइपों के सहारे लागों के घरों तक पहुंच रहा हैं। लोगों के घरों तक पहुंचने वाले इस पानी के साथ कीड़े मिलने की शिकायत आ रही है। घरों के नलों से पानी के साथ कीड़े आने से लोगों में आक्रोश है। इस दौरान वार्ड के भाजपा पार्षद से भी लोग खासा खफा दिखाई दिए हैं। कीड़े तैरते पानी से भरी बोतलों को हाथ में लेकर कालोनी के लोगों ने हंगामा काटा। सूत्र बताते हैं कि इस बीच किसी ने वार्ड पार्षद को भी सूचना दे दी और पार्षद ने हंगामा कर रहे लोगों के बीच पहंुचकर किसी तरह आक्रोश को शांत कराया। वार्ड के स्थानीय लोगों का कहना हैं कि वार्ड पार्षद ने चुनाव जीतने के बाद से मौहल्ले में आकर समस्या के समाधान कराना तो दूर की बात हैं फोन करके कालोनी के लोगों से क्षेत्र की समस्या के विषय में पूछा तक गंवारा नहीं समझा हैं। बस, कहीं भीड़ देखी नहीं कि चले आए राजनीति करने। बीते दिनों घर के नलों में पेयजल से कीड़े व दूषित पानी आने के बाद पानी में कीडे़ आने की समस्या को लेकर लोगों ने जल संस्थान के साथ-साथ वार्ड पार्षद के खिलाफ भी सोशल मीडिया पर खासी तीखी प्रतिक्रिया भी दी थी। सूत्रों के अनुसार सोशल मीडिया पर वायरल वीडियों में एक बात तो साफ तौर पर कही और देखी जा सकती हैं कि वार्ड 31 में शामिल हिमगिरी कालोनी के लोगों में कहीं न कहीं क्षेत्रीय पार्षद द्वारा क्षेत्र की समस्याओं को लेकर बरता जा रहा उदासीन रवैये के खिलाफ नाराजगी जरूर हैं और इसमें कोई दो राय नहीं हैं कि वार्ड पार्षद को भी कहीं न कहीं इस नाराजगी का इल्म जरूर हैं। 
उल्लेखनीय है कि कई दिनों से नलों में दूषित पेयजल सप्लाई होने की शिकायत के बाद भी जिम्मेदार नहीं जाग रहे। विभागीय अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों को इस बात की परवाह नहीं हैं कि कीड़े युक्त पानी पीने से लोग बीमार हो सकते हैं। महज कुछ घंटों ही पानी दिया जाता है, वह भी नाली के कीड़ों से भरा। वार्ड में नलों के पाइप लाइन नालियों से होकर घरों तक पहुंचाए गए हैं। कई सालों से इन पाइप की मरम्मत नहीं होने की वजह से पाइप नालों में जगह-जगह क्षतिग्रस्त हो चुके हैं, जिसके कारण नलों में सप्लाई किए जा रहे पानी के साथ नालों से भी गंदे पानी और कीड़े पाइपों के जरिए घरों तक पहुंच रहे हैं। वार्डो में यूं तो नालियों की सफाई की व्यवस्था चलती रहती है लेकिन इन दिनों बारिश में न तो नालियों की सफाई व्यवस्था ही दुरूस्त हैं और न ही एंटीबैक्टीरिल दवाइयों के छिड़काव की कोई व्यवस्था कहीं नजर आ रही है। वहीं वार्ड 31 से भाजपा पार्षद राधेकृष्ण शर्मा का कहना हैं कि वह जानकारी मिलने पर कालोनी में गए थे और नलों में पानी के साथ कीड़े आने की समस्या की जानकारी ली थी। उनका कहना हैं कि जल संस्थान के अधिकारियों को फोन करके नलों में कीड़े आने की समस्या के समाधान करने के लिए उन्होंने ही मौके पर बुलाया था। पार्षद का कहना हैं कि किसी की कोई नाराजगी नहीं और अब इसमें भी कोई राजनीति कर रहा हो तो कुछ कहा नहीं जा सकता। उधर जल संस्थान के एक्सईन नरेश पाल का कहना हैं कि पूर्व में भी उन्हें नलों के पानी में कीड़े आने की शिकायत मिली थी। जो कि विभागीय अधिकारियों को भेज कर ठीक करवा दी गई। इस मामले में की शिकायत मिलते ही जल संस्थान के अधिकारियों की टीम को मौके पर कीड़े युक्त पानी की समस्या के निस्तारण के लिए भेज दिया गया हैं। 
-यूएस.न्यूज

Uttarakhand Stambh News