X Close
X

कुख्यात के गुर्गो को पार्सल व्यापारी को धमकाना पड़ा महंगा , पुलिस ने धमकी प्रकरण में तीनं आरोपी पकड़े


41431-9cf70a64-7ae2
Haridwar:

Anil Bisht: कुख्यात के गुर्गो को पार्सल व्यापारी को धमकाना पड़ा महंगा , पुलिस ने धमकी प्रकरण में तीनं आरोपी पकड़े , अवैध असलहा व उगाही की गई लाखों की रकम बरामद
=======================================================================

हरिद्वार। पश्चिमी उत्तर प्रदेश का कुख्यात अपराधी संजीव माहेश्वरी उर्फ जीवा उर्फ डाॅक्टर के गुर्गो को ज्वालापुर के पार्सल व्यापारी को धमकाना महंगा पड़ गया हैं। पीड़ित की शिकायत मिलने के बाद से पुलिस खासी एक्शन में दिखी और एसएसपी के आदेश के बाद पुलिस ने तीन आरोपियों को अवैध असलहा सहित भारी रकम के साथ पकड़ने में सफलता हासिल की हैं। सूत्रों की मानें तो पुलिस ने प्राप्त शिकायत के आधार पर आरोपियों की धरपकड़ के बाद जेल भेजने की पूर्ण तैयारी कर ली है। आरोपियों के पकड़े जाने के बाद से स्थानीय लोगों ने राहत की सांस लेते हुए पुलिस कप्तान की कुख्यात के गुर्गॉ पर की गई कारवाई की भरपूर सराहना की हैं। स्थानीय लोगों का कहना हैं कि पकड़े गए आरोपियों ने क्षेत्र में दहशत का महौल बनाया हुआ था। बताते चलें कि कुख्यात के गुर्गो की धमकी मिलने के बाद पार्सल व्यापारी ने देर रात्रि ज्वालापुर पुलिस से इस संबंध में लिखित में शिकायत की थी। शिकायतकर्ता ने अपनी शिकायत में विक्की ठाकुर , निक्की ठाकुर व राहुल दीक्षित उर्फ बबलू पर जबरन अवैध उगाही किए जाने संबंधी गंभीर आरोप लगाए थे। पीड़ित ने पुलिस को बताया कि कुख्यात संजीव माहेश्वरी उर्फ जीवा उर्फ डाक्टर के नाम से धमकाकर विक्की ठाकुर, निक्की ठाकुर व राहुल दीक्षित द्वारा पार्सल कार्य में होने वाली मासिक आय में से 30 प्रतिशत की रकम की मांग की जा रही थी और रकम न दिए जाने की स्थिति में जान से मारने की धमकी दी गई। देर रात पीड़ित की शिकायत मिलने के बाद कोतवाली ज्वालापुर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ चौथ वसूली सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया था । इस घटना के अनावरण के लिए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सेंथिल अबुदई कृष्ण राज एस के आदेशानुसार कोतवाली ज्वालापुर पुलिस व सीआईयू की टीम द्वारा आरोपियों की धरपकड़ के लिए टीम को लगाया गया। जिसमें पुलिस ने आरोपियों के संबंध में जब जानकारी जुटाने पर सामने आया कि कुख्यात संजीव माहेश्वरी उर्फ जीवा उर्फ डाक्टर का उत्तर प्रदेश व उत्तराखण्ड में जघन्य अपराधिक मामलों में लिप्त अपराधी हैं। इसके साथ ही कुख्यात संजीव माहेश्वरी उर्फ जीवा उर्फ डाक्टर गैंग को उत्तराखण्ड पुलिस मुख्यालय द्वारा अतंर्राज्यीय गैंग के तौर पर घोषित किया हुआ हैं । पुलिस को यह भी ज्ञात हुआ कि विक्की ठाकुर और निक्की ठाकुर भी इस गैंग के सक्रिय सदस्य हैं और लोगों को डरा धमका कर जबरन अवैध उगाही करने में लगे हैं। आरोपियों को तलाश रही पुलिस को सूचना मिली कि विक्की ठाकुर , निक्की ठाकुर और राहुल दीक्षित तीनों ब्लैक रंग की कार से ऊंचा पुल ज्वालापुर के पास आने वाले हैं और इनकी कार में इनके पास से अवैध असलहे के साथ भारी मात्रा में अवैध उगाही की धनराशि मिल सकती हैं। सूचना मिलते ही पुलिस आरोपियों के धरपकड़ की तैयारी कर ली और जैसे ही तीनों आरोपी पुल पर पहुंचे पुलिस तीनों को धर दबोचा । कार की तलाशी लेने पर एक 315 बोर का तमंचा व कई जिंदा कारतूस के साथ पुलिस ने लाखों रुपये की नकदी आरोपियों से बरामद की हैं। गौरतलब हैं कि 2 दिनों पूर्व ट्रांसपोर्ट के व्यवसाय से जुडे़ ज्वालापुर निवासी व्यापारी अविनाश उर्फ शालू को कंबल व्यापारी के हत्यारोपी में शामिल निखिल ठाकुर उर्फ निक्की ठाकुर ने व्हाटसप कालिंग कर धमकी दी थी। फिलहाल पुलिस ने पार्सल व्यापारी से अवैध उगाही व जान से मारने की धमकी दिए जाने के आरोप में तीनो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया हैं। सूत्रों कि मानें तो पुलिस इन बदमाशों को मिल रहे सफेदपोशों के संरक्षण के साथ ही स्थानीय संपर्क की भी कुंडली खंगाल रही हैं। विगत वर्षो पूर्व हरिद्वार के कंबल व्यापारी की हत्या कुख्यात जीवा के इशारे पर की गई थी और हत्या में संलिप्तता के चलते विक्की ठाकुर और निक्की ठाकुर व अन्य लोगों के खिलाफ नगर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कर आरोपियों को जेल भेजा था। कुछ महीने जेल में बिताने के बाद विक्की ठाकुर व निक्की ठाकुर सहित अन्य आरोपियों को न्यायालय से जमानत मिल गई। जेल से बाहर आते ही दोनों भाईयों ने विवादित मामलों व ट्रैवल्र्स के काम में दखल देना शुरू कर दिया था। इस बात की जानकार पुलिस को भी थी, लेकिन शिकायतकर्ता के सामने न आने के चलते कुख्यात के गैंग सदस्यों के खिलाफ पुलिस कोई सख्त कारवाई नहीं कर पा रही थी।
-यूएस. न्यूज

Uttarakhand Stambh News