X Close
X

कमेटी संचालक साध्वी दंपति पर पैसा हड़पने का आरोप


41431-9cb263a1-52fe
Haridwar:

अनिल बिष्ट-हरिद्वार। हरिद्वार में पुराने रानीपुर मोड़ पर किट्टी संचालक दंपति द्वारा कमेटी सदस्यों के हड़पे गए रूपयों के प्रकरण सामने आने पर जिन लोगों ने अन्य जगह अपनी कमेटिया चलाई हुई हैं उनमें हड़कंप मचा हुआ हैं। हरिद्वार में कोने -कोने में किट्टी संचालकों द्वारा कमेटिया संचालित की जा रही हैं। कनखल क्षेत्र में भी ऐसे कई कमेटी संचालक खासे सक्रिय हैं। बालाजी कलेक्शन कमेटी संचालक लोगों के पैसे लेकर फरार हो हुई चुका हैं। और जिसमें शिकायत के बाद कनखल पुलिस ने धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया था। फरार किट्टी संचालक दंपति पर मुकदमा दर्ज होने के तीन दिन बाद अब एक साध्वी दंपत्ति का मामला भी सामने आया हैं। सूत्रों के अनुसार विगत दिनों कमेटी व ब्याज पर पैसा का कार्य संचालित करने वाली साध्वी दंपति की राजपूत धर्मशाला स्थित दुकान में लोगों ने किट्टी के संचालक के फरार होने की आशंका के चलते धर दबोचा। कमेटी संचालिका साध्वी दंपति के यहां कमेटी डालने वाले सदस्यों व दुकान पर माल देने वाले बकायेदारों ने जमकर हंगामा किया। बाद में सूचना पर पुलिस दोनों पक्षों को थाने ले गई जहां पुलिस के सामने ही साध्वी दंपति व बकायेदारों ने जमकर हंगामा ने जैसे तैसे लम्बी वार्ता के बाद आपसी सहमति बनने पर साध्वी दंपति द्वारा बकायेदारों का पैसा लौटाए जाने की बात कहने पर पुलिस ने मामला शांत कराया। थाने में पैसा वापिस दिए जाने की हामी भरने के पश्चात् साध्वी व उसके परिजन दुकान पर पहुंचते ही एक बकायेदार का हिसाब तो कर दिया परन्तु अन्य बकायेदारों का पैसा वापिस दिए जाने के नाम पर मुकर गए। इसके बाद फिर से पीड़ित पक्ष थाने पहंुचा और लिखित में तहरीर दिए जाने की कोशिश भी की  मगर थाने से पीड़ित पक्ष को यह कह लौटा दिया गया कि आपस में सुलह कर लो वरना कोर्ट में मामला गया था तो कुछ भी हाथ नहीं लगेगा। हलांकि पुलिस ने पीड़ित पक्ष के समक्ष आरोपी दंपति पर भी कमेटी सदस्यों का पैसा लौटाने के लिए लताड़ लगाई । मगर साध्वी व उसके सुपुत्र पर पुलिस का के खौफ का असर कहीं नजर नहीं आया। चर्चा हैं कि संत व साध्वी जिले में तैनात एक पुलिस अधिकारी से खासी करीबियां रखते हैं। संत व साध्वी इस अधिकारी को अपना चेला बतातें हैं और संत व साध्वी इन्हीं अधिकारी की करीबियांे का रौब गालिब कर लोगों से ब्याज पर दिए गए रूपयों का दोगुना चैगुना वसूल करते आए हैं। कई लोगों ने ब्याज पर ली गई रकम लौटोने के लिए अपनी जमीन मकान तक गंवानी पड़ी हैं। ऐसे कई पीड़ित हैं जिन पर दी गई रकम का कई गुना ब्याज लगा कर इन दंपति द्वारा जबरन डरा धमका कर उनकी संपति हथिया लेने के मामले सामने आ चुके हैं । कई पीड़ित ऐसे भी हैं जो इनके डर के कारण छुपकर अपना जीवन व्यतीत करने को विवश हैं। वहीं इन सभी आरोपों के बीच संत व साध्वी ने अपने उपर बकायेदारों द्वारा लगाए जा रहे आरोपो को निराधार बताया हैं।
    डीएम के आदेशों के बाद भी किट्टी संचालकों पर नहीं हो रहा मुकदमा दर्ज

========================================

हरिद्वार। विगत दिनों रोशनाबाद स्थित कलैक्ट्रेट भवन में जिलाधिकारी दीपक रावत ने जिले में अवैध रुप से संचालित किट्टी ग्रुप के पीड़ितों की शिकायतें सुनते हुए जिलाधिकारी ने लिखित शिकायत पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को बिना रजिस्ट्रेशन लोगों से पैसा जमा कराने के अपराध में चिट फंड एक्ट के तहत कार्रवाई करने तथा अवैध किट्टी संचालन करने पर एफआइआर दर्ज कराने का निर्देश दिया था। हालांकि इस पर जिलाधिकारी ने लोगों को भी नसीहत दी थी कि बगैर पंजीकृत ऐसे कारोबार में वह क्यों पैसा लगाते हैं। उसी दौरान जिलाधिकारी दीपक रावत ने का कहना था कि कई शिकायतकर्ताओं ने कुछ और जानकारी दी है। फिलहाल कुछ किट्टी संचालकों का चेहरा अभी सामने नहीं आया है। जल्द ही उन पर भी शिकंजा कसा जाएगा। डीएम ने इस अवैध कारोबार को पूर्णतः बंद करा देने का दावा किया था। डीएम का यह भी कहना था कि यदि निर्देश के बाद भी संचालिका व अन्य ने रुपये लौटा कर किट्टðी का संचालन बंद न किया तो कानूनी कार्रवाई की जाएगी। लेकिन डीएम के आदेशों के बाद भी पुलिस पीड़ित पक्ष की लिखित तहरीर लौटाने व सुलह की कोशिश कहीं न कहीं डीएम के आदेशों हवा निकालने की बानगी ही दिखाई दे रही हैं। 

Uttarakhand Stambh News